Sunday, 23 January 2022

समझें क्या है mansplaining ( मैंसप्लेनिंग )?



Mansplaining  शब्द की उत्पत्ति दो शब्दों से मिल कर हुई है - Man  और explaining  | Explaining शब्द का इनफॉर्मल रूप -splaining यहाँ काम में लिया गया है | इस नज़रिये से mansplaining  शब्द का शाब्दिक अर्थ है किसी पुरुष का किसी बात को समझाना | लेकिन इस शब्द का इस्तेमाल विशेष तौर पर तब किया जाता है जब कोई पुरुष किसी महिला को कोई बात ऐसे तरीके से समझाए, जिसमें उस महिला से खुद को श्रेष्ठ दिखाने का भाव हो | Mansplaining  विशेष तौर पर बेहूदा तब हो जाती है, जब कोई पुरुष किसी ऐसे विषय में किसी महिला को नीचा दिखने की कोशिश करे, जिसमें वो महिला एक्सपर्ट हो |

उदाहरण के लिए, जब कोई ऐसे पुरुष जिन्होंने जीवन भर खाना न पकाया हो, महिलाओं को बताने लगे कि सिलबट्टे पर चटनी पीसना महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए कितना अच्छा है, तो ये सिर्फ patriarchal  या पितृसत्तात्त्मक कमेंट, या स्त्रीद्वेषी कमेंट ही नहीं, या mansplaining  का एक बढ़िया उदाहरण भी है | क्यों? क्योंकि सिलबट्टे पर चटनी पीसने का अनुभव जितना औरतों को होगा, उसके आगे इन पुरुष का ये कहना कि ये चटनी की पिसाई के बारे में बेहतर जानते हैं, सिर्फ इनका पुरुष होने का श्रेष्ठताबोध है |

इस तरह का व्यवहार पुरुष की उस स्त्रीद्वेषी सोच का नतीजा है जहां माना जाता है कि महिलाएं किसी भी विषय पर बहुत अधिक जानकारी रखने के योग्य ही नहीं होतीं | कि महिला होने का मतलब ही है कम लायक होना |  कई बार मैं जब सेक्सुअलिटी पे पोस्ट ग्रुप्स में शेयर करती हूँ, तो देखती हूँ कि पुरुष दुराग्रह और कुंठा से भर कर मुझे ये बताने लगते हैं कि कैसे स्त्रियों को लज्जा, मर्यादा, आदि में रहना चाहिए, वरना सब सत्यानाश हो जायेगा | कभी कभी मेरी वाल पर या इनबॉक्स में  आ कर मुझे बताने लगेंगे मुझे कैसे लिखना चाहिए, वो भी तब जब कि न मुझसे परिचय होगा, न मेरे काम से |

मज़ेदार बात ये है कि कई बार ग्रुप्स में जब कोई पुरुष उनसे वही सवाल करने लगे, जो मैं करती हूँ, तो वे अपने सुर बदल लेते हैं | यानि औरत और आदमी अगर दोनों एक ही बात कह रहे हों, तो वो एक औरत की बात एक्सपर्ट होने के बावजूद भी ख़ारिज कर देंगे | ये mansplaining  का दूसरा प्रकार है | आपने कई बार देखा होगा पुरुषों को लेडी डॉक्टर को पेशेंट कैसे देखें के बारे में राय देते, और उनके परामर्श को ख़ारिज करते; लेकिन वही राय यदि पुरुष डॉक्टर दे, तो चाहे जूनियर ही क्यों न हो, ऐसे लोग सुन लेंगे | किसी महिला बैंकर को पर्सनल फाइनेंस का ज्ञान बिना मांगे पिलाते ऐसे पुरुषों को शेख़ीबाज़ कहना गलत न होगा |

Mansplaining  की सबसे मज़ेदार बात ये है कि अमूमन ऐसे पुरुष यानि mansplainer  जब किसी महिला की बात बीच में काट कर, बहुत ही सतही स्टार और तरीके से, अति आत्मविश्वास के साथ, ज़बरदस्ती कोई बात बोलते हैं, चाहे उन्हें उस विषय के बारे में कुछ न आता हो, चाहे सामने कोई एक्सपर्ट ही क्यों न बैठी हो | ऊपर से उन्हें ये मुगालता भी होता है कि वे ऐसा कर के उस महिला पर कोई अहसान कर रहे हैं  | समझदार लोगों के बीच ऐसा करने पर अक्सर ऐसे पुरुष अपनी भद्द खुद ही पिटवाते हैं |


Mansplaining तुलनात्मक रूप से एक नया शब्द है, लेकिन अधिकतर औरतों ने इसे भोगा है, महसूस किया है, कभी callout किया है, कभी नहीं | इसके असर कई बार औरतों के व्यक्तित्त्व, उनके आत्म विश्वास पर बहुत बुरा भी पड़ता है | विशेष तौर पर यदि ये पुरुष उनके नज़दीकी हों, जैसे पिता, बड़ा भाई, साथी आदि, या पॉवरफुल पोजीशन में हों जैसे कोई ऐसा बॉस जिसका अहसास ए कमतरी जाता ही न हो |

अब महिलाओं को mansplaining  बर्दाश्त नहीं करनी चाहिए ये तो एक बात है | लेकिन दूसरी बात ये है कि पुरुषों को बहुत बार पता ही नहीं होता कि वे mansplaining  कर रहे हैं | ऐसे में जो चार्ट यहाँ लगा है, वो काफी काम का है | इसका हिंदी रूपांतरण भी मैंने साथ ही लगाया है ताकि भाषा के कारण समझ का दायरा सीमित न हो जाये | 



आखिरी बात - मैं उन महिलाओं में से हूँ, जो mansplaining  कतई बर्दाश्त नहीं कर पाती, इसलिए जब भी mansplaining  करने की बहुत इच्छा हो, तो प्लीज इस पोस्टर को ज़रूर देखें, और ब्लॉक गति से होने वाला अपना फायदा (interesting  पोस्ट्स) और नुकसान (ये आप पर निर्भर है), सोच लें |


©Anupama Garg 2022